Anjas

वागड़ संभाग

दक्षिण राजस्थान रा डूंगरपुर-बांसवाड़ा जिला अर वांरै असवाड़ै-पसवाड़ै रो गुजरात सूं लागतौ छैतर।

आत्माराम 'रामस्नेही संत'

आत्माराम 'रामस्नेही संत'

रामस्नेही संत संप्रदाय रै शाहपुरा, भीलवाड़ा पीठ रा संत रूपदास जअवधूत रा सिष्य। गुरु रूपदास जी री जीवनी रा प्रामाणिक व्याख्याकार अर 'मुगति-विलास' ग्रंथ रा सिरजनकर्ता।

दिनेश प्रजापति ‘दीनू’
गवरी बाई

गवरी बाई

वागड़ री मीरां रै नांव सूं ओळखीजै। रचनावां में ज्ञान, भगती अर वैराग री महिमा बताइज्योड़ी है। भाषा राजस्थानी जिण में ब्रज, गुजराती अर संस्कृत रा शब्द भी निंगै आवै।

जगदीश मुरी
महेश देव भट्ट
मयूर पंवार ‘मयूर’
प्रकृति पंड्या

प्रकृति पंड्या

वागड़ी री नूवी पीढ़ी री कवयित्री।

प्रतिज्ञा भट्ट
रमेशचन्द्र चौबीसा
संत मावजी

संत मावजी

संत कवि अर समाज सुधारक। अवतारी पुरुष रै रूप में पुजीजै। निष्कलंकी संप्रदाय रा संस्थापक। रचनावां अर शिक्षावां रो संग्रै 'चौपड़ो' कहिजै।

श्रीधर व्यास

श्रीधर व्यास

आदिकाल रा सिरै वीर कवि। 'रणमल छंद' नांव री महताऊ कृति रा सिरजक रै रूप में चावा। दुर्गा सप्तशती नांव री एक अन्य रचना भी मिले।

Do you want to discard your changes?

You modified some filters. What would you like to do with these changes?